SHARE
AMIT SHAH COMMISION
AMIT SHAH COMMISION
Now Save on Facebook and Read any Time You want.

नई दिल्ली। किसी समय अमित शाह और नरेन्द्र मोदी के करीबी रहे एडवोकेट यतीन ओझा ने ओपन लेटर लिखकर प्रधानमंत्री को नोटबंदी पर सवाल खड़े कर दिए है। यतिन ने अपने लेटर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ओझा का आरोप है कि आठ तारीख की रात ही सहकारी बैंक के जरिए करोड़ों रुपयों का ट्रांजैक्शन किया गया है।
पत्र में ओझा ने कहा है कि अमित शाह के करीबी कमीशन लेकर 500 और 1000 रुपये के नोटों को 100 रुपयों के नोटों में कन्वर्ट करवा रहे हैं। उनके पास सबूत के तौर पर वीडियो भी है जिसमें अमित शाह के करीबी लोगों के पैसों का ट्रांसफर कर रहे हैं।

आपको बता दे कि ओझा गुजरात के हाईकोर्ट में सीनियर ऐडवोकेट है। पत्र में उन्होंने यह भी लिखा है कि एक बड़ी कतार इनके घर और दफ्तर के बाहर लगी हुई है। जो काले को सफेद में बदलने का काम रही है। उनके दफ्तर के बाहर इस काम को 37 प्रतिशत की रियातती दरों पर किया जा रहा है। 1 करोड़ तक के एमाउंट के लिए किसी पहचान पत्र की आवश्यता यहां नहीं पड़ती है। 1 करोड़ से भरे हुए बैग के बदले आपको यहां से 63 लाख का बैग मिल जाता है।

वहीं, उन्होंने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया है कि उनके करीबी लोगों को पहले से ही 500 और 1000 के नोट बंद होने की जानकारी थी। क्योंकि एक व्यापारी की पत्नी ने नोट बंद होने से पहले ही 20 करोड़ रुपये का सोना खरीदा था। यतीन ओजा ने अपने लेटर में ये भी कहा है कि प्रधानमंत्री ये बताएं कि टॉप 300 बिजनेसमैन ने कितना पैसा अपने एकाउंट में जमा कराया है।