SHARE
jignesh mewani
jignesh mewani
Now Save on Facebook and Read any Time You want.

साथियों,
क्रान्तिकारी जय भीम !
जैसा कि हम सबको मालूम है कि गुजरात के उना में फर्जी गौरक्षकों ने हमारे दलित भाईयों को एक मुर्दा गाय का चमड़ा निकालने की वजह से बेहद क्रूरता से जानलेवा मारपीट की ,जिसके खिलाफ पूरे देश से प्रतिरोध की आवाज़ बुलंद हुई .

गुजरात में दलित युवा नेता जिग्नेश मेवानी के नेतृत्व में अन्य कई संघर्ष शील साथियों ने मिलकर उना दलित अत्याचार लड़्त समिति बनाई .अहमदाबाद में लाखों की तादाद में एकत्र हो कर उना में हुए जुल्म की जबरदस्त मुखालफत की .

गुजरात के दलित भाई बहनों ने अहमदाबाद की संभा ओर उसके बाद निकाले गए दलित अस्मिता मार्च में संकल्प लिया कि भविष्य में वे मरे हुये जानवर उठाने का अमानवीय काम कभी नहीं करेंगे .दलितों ने अपने लिए गरिमापूर्ण आजीविका की जरुरत हेतु जमीन आवंटन की मांग उठाई .उन्होंने ” गाय की पूंछ तुम रखो – हमें जमीन का अधिकार दो”  का क्रांतिकारी नारा दिया .

भाई जिग्नेश मेवानी और उनके जांबाज़ साथियों के नेतृत्व में उना अत्याचार लड़्त समिति और राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच द्वारा 1अक्टूबर 2016 को मणिनगर रेल्वे फाटक पर रेल रोको आन्दोलन किया जा रहा  है .

दलित भूमि अधिकार के इस आन्दोलन को मैं अपना पूर्णत समर्थन व्यक्त करता हूँ. इस मांग को मजबूत  बनाने के लिए मैं 1अक्टूबर को सुबह 10 बजे अहमदाबाद पंहुच रहा हूँ तथा आपसे भी अपील करता हूँ कि इस रेल रोको आन्दोलन में शिरकत करने जरुर अहमदाबाद आईये.

सादर

आपका ही
साथी
भंवर मेघवंशी
( स्वतंत्र पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता,भीलवाड़ा, राजस्थान ,मोबाईल- 9571047777)